अगर देश में हुए आज चुनाव तो किस राज्य में कौन सी पार्टी मारेगी बाजी? देखें क्या कहता है सर्वे

1 min read

[ad_1]

Lok Sabha Election Survey: भारत में अगला आम चुनाव 2024 में होने वाला है. इसके लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. कुछ ऐसे प्रमुख दल हैं, जो अभी तक किसी गठबंधन में शामिल नहीं हुए हैं. Times Now ETG ने इस बीच एक सर्वे करवाया है, जिसमें यह बताया गया है इस समय अगर देश में चुनाव होते हैं तो किस पार्टी को कितनी सीटें मिलने की संभावना है और किस राज्य में कौन सी पार्टी बाजी मारेगी.

हिंदी भाषी राज्यों में किसका रहेगा वर्चस्व?

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक लोकसभा की (80) सीटें हैं. पिछले चुनाव 2019 की अपेक्षा आगामी चुनाव में बीजेपी यहां 2014 वाला अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहराती नजर आ रही है. इस बात के संकेत सर्वे ने दिए हैं. बीजेपी को यहां 68-70 सीटें मिलने की संभावना जताई गई है. वहीं, उसके गठबंधन एनडीए को 69-73 सीटें मिलने की उम्मीद है. सर्वे के नतीजे साफ दर्शा रहे हैं कि हिंदी भाषी राज्यों में बीजेपी का झंडा बुलंद रहेगा. बीजेपी को 2019 में अकेले 62 सीटें मिलीं थीं, जबकि उनके गठबंधन एनडीए को 64 सीटें.

इन दो राज्यों में हैं कांग्रेस की सरकार, फिर भी लोकसभा में बीजेपी रहेगी आगे

राजस्थान में बीजेपी को 25 में से 20-22 सीटें मिलने का अनुमान सर्वे बता रहा है. राजस्थान के साथ-साथ मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में भी इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होंने हैं. मध्य प्रदेश में बीजेपी 22-24 सीटों के साथ साफ बढ़त बनाती दिख रही है. वहीं, कांग्रेस को 5-7 सीटें मिलने का अनुमान जाहिर किया गया है. छत्तीसगढ़ में भी बीजेपी अपने विपक्षियों पर बढ़त बनाती दिख रही है. ये अनुमान काफी चौंकाने वाले हैं क्योंकि राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकारें हैं.

छत्तीसगढ़ में बीजेपी को 6-8 सीट मिलने का अनुमान सर्वे दिखा रहा है. वहीं, कांग्रेस 11 लोकसभा सीटों में से 3-5 पर विजयी होते दिख रही है. बिहार में भी 40 लोकसभा सीटों में बीजेपी गठबंधन 22-24 हासिल करता हुआ दिख रहा है. यहां मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जेडीयू और लालू प्रसाद यादव की आरजेडी ने मिलकर महागठबंधन बनाया है. बावजूद इसके सिंगल पार्टी के रूप में बीजेपी का दबदबा बना रहेगा. पिछले आम चुनाव में नीतीश के साथ होने के बाद भी बीजेपी ने उनसे अधिक 17 सीटें जीतीं थीं. नीतीश को 16 सीटों पर विजय मिली थी. एनडीए को 40 में से 39 सीटें मिलीं थीं. झारखंड में भी 14 में से बीजेपी को 10-12 सीटें मिलने का अनुमान है.

इन राज्यों में बीजेपी के क्लीन स्वीप करने के संकेत

गुजरात, उत्तराखंड और गोवा में बीजेपी सभी विपक्षियों का सूपड़ा साफ करती हुई नजर आ रही है. सर्वे के नतीजे सही बैठते हैं तो गुजरात में बीजेपी पूरी 26 सीटें जीत रही है. वहीं, उत्तराखंड की 5 और गोवा की दोनों सीटें भी बीजेपी की झोली में आने की उम्मीद है. इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश दिल्ली, हिमाचल, महाराष्ट्र, लद्दाख और पूर्वोत्तर की 9 सीटों पर बीजेपी का दबदबा सर्वे दिखा रहा है.

यूपी के बाद महाराष्ट्र सर्वाधिक लोकसभा सीटों वाला प्रदेश है. यहां 48 सीटों में पिछली बार अकेले 23 सीटें जीतने वाली बीजेपी को इस बार भी 22-24 सीटें मिलने का अनुमान है. जबकि उसके एनडीए गठबंधन को 32-36 सीटें मिलने का अनुमान है. इसी तरह दिल्ली में 5-6 सीटें बीजेपी को मिलती दिख रही हैं. इसके अलावा कर्नाटक में विधानसभा चुनाव हारने के बावजूद लोकसभा में बीजेपी लीडिंग पार्टी बन रही है. वहीं हरियाणा, असम, अरुणाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर से बीजेपी का परचम लहराता दिख रहा है.  

इन राज्यों में रहेगा कांग्रेस का दबदबा

एक समय देश की सत्ता पर लंबे समय तक काबिज रहने वाली कांग्रेस का सिर्फ केरल में प्रभावशाली प्रदर्शन दिख रहा है. पिछली बार यहां 15 सीटें जीतने वाली कांग्रेस इस बार भी सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरेगी. यहीं की वायनाड सीट से राहुल गांधी जीतकर संसद पहुंचे थे. इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश लक्षद्वीप, मेघालय, अंडमान एंड निकोबार, पुदुचेरी में भी कांग्रेस आगे दिख रही है. पंजाब में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस में कड़ी टक्कर है. विधानसभा में कांग्रेस को पछाड़ने वाली ‘आप’ लोकसभा में ऐज लेते दिख रही है. कुल 13 सीटों में से 6-8 ‘आप’ और कांग्रेस 5-7 सीटों पर काबिज होती दिख रही है.

इन राज्यों में अलग-अलग पार्टियां करेंगी लीड

ओडिशा, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में अलग-अलग पार्टियां बढ़त बनाती हुई दिख रही हैं. ओडिशा में बीजू जनता दल (BJD) को 11-13 सीटें मिलने की संभावना है. वहीं, तमिलनाडु में एक बार फिर डीएमके हावी रहेगी. डीएमके को 22-24 सीट मिलने की संभावना है. आंध्र प्रदेश में जगन मोहन रेड्डी के नेतृत्व वाली वाईएसआरसीपी को 20-22 और तेलंगाना में के चंद्रशेखर राव की बीआरएस को 7-9 सीटें मिलने की संभावना है. बीजेपी यहां पर केसीआर को सीधी टक्कर दे रही है. बीजेपी को 11 में से 4-5 सीटें मिलने की संभावना है.

ये भी पढ़ेंः AAP से गठबंधन पर क्या है कांग्रेस का प्लान? दिल्ली के नेताओं के साथ बैठक में राहुल गांधी ने दिया अहम बयान

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author