अफगानिस्तान में क्यों आते हैं इतने भूकंप के झटके, ये है कारण

1 min read

[ad_1]

Afghanistan Earthquake: दुनिया के कई देशों में पिछले कुछ सालों में भूकंप ने जमकर तबाही मचाई है. इसमें सबसे प्रभावित देशों में नेपाल और अफगानिस्तान जैसे देश शामिल हैं. हाल ही में तुर्किए के बाद अफगानिस्तान में बड़ा भूकंप आया, जिसमें दो हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. साथ ही हजारों लोग बुरी तरह घायल हो गए. इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 6.3 मापी गई. एक दिन पहले भी यहां भूकंप के झटके महसूस किए गए. ये पहली बार नहीं है जब अफगानिस्तान भूकंप के झटकों से दहला हो. यहां कई बार ऐसे जानलेवा भूकंप आ चुके हैं. आज हम आपको बता रहे हैं कि अफगानिस्तान में आखिर क्यों इतने ज्यादा भूकंप आते हैं?

अफगानिस्तान में खतरनाक भूकंप
अफगानिस्तान में आए भूकंप में हजारों घर भी तबाह हो गए, जिसके चलते हजारों लोग बेघर हो गए. इस भीषण भूकंप के बाद भी लोगों ने कई झटके महसूस किए हैं. जिसके चलते अफगानिस्तान के लोग लगातार खौफ में जी रहे हैं. फिलहाल यहां राहत बचाव का काम चल रहा है और लोगों तक राहत पहुंचाई जा रही है. 

क्यों आते हैं इतने बड़े भूकंप?
अब उस सवाल पर आते हैं कि अफगानिस्तान में आखिर इतने खतरनाक और ज्यादा भूकंप क्यों आते हैं? इसका सबसे बड़ा कारण ये है कि अफगानिस्तान यूरेशियन प्लेट की दक्षिणी सीमा के पास है, जिसके चलते यहां भूकंप का असर सबसे ज्यादा दिखता है. इसी वजह से ज्यादातर भूकंप के केंद्र अफगानिस्तान में होते हैं. इसके अलावा ये एक पहाड़ी इलाका है, जिसके चलते नुकसान ज्यादा होता है. कुल मिलाकर अपनी भौगोलिक स्थिति के चलते अफगानिस्तान में भूकंप आते हैं. 

वैसे तमाम भू-वैज्ञानिकों और एक्सपर्ट्स का मानना है कि पूरा दक्षिण एशिया ही भूकंप के लिए काफी संवेदनशील है. एक टेक्टोनिक प्लेट लगातार उत्तर की तरफ मौजूद यूरेशियन प्लेट की तरफ खिसक रही है, जिसके चलते अफगानिस्तान, भारत और उसके पड़ोसी देशों में भूकंप के झटके महसूस किए जाते हैं. 

ये भी पढ़ें: लैपटॉप और मोबाइल से निकलने वाली नीली रोशनी का इलाज है चश्मा? जानें क्या कहता है साइंस

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author