आईपीओ लॉन्च से पहले टाटा मोटर्स ने बेची टाटा टेक्नोलॉजीज में 9.9% हिस्सेदारी, जुटाये 1614 करोड़

1 min read

[ad_1]

Tata Motors Update: टाटा मोटर्स ने ऐलान किया है कि वो टाटा टेक्नोलजीज में अपनी 9.9 फीसदी हिस्सेदारी 1614 करोड़ रुपये में बेचने जा रही है. कंपनी  ये स्टेक टीपीजी राइज क्लाइमेट (TPG Rise Climate) को बेचेगी. इस डील के बाद टाटा टेक्नोलॉजीज का वैल्यूएशन 16,300 करोड़ रुपये आंका जा रहा है. 

टाटा मोटर्स ने रेग्यूलेटरी फाइलिंग में स्टॉक एक्सचेंजों को सूचित किया कि टाटा मोटर्स ने शेयर पर्चेज एग्रीमेंट के तहत टाटा टेक्नोलॉजीज में 9.9 फीसदी हिस्सेदारी 1613.7 करोड़ रुपये में बेचने का फैसला किया है. टीपीजी राइज क्लाइमेट इस ट्रांजैक्शन की लीड इंवेस्टर है. इस ट्रांजैक्शन से टाटा टेक्नोल़जीज का इक्विटी वैल्यूएशन 2 बिलियन डॉलर यानि 16300 करोड़ रुपये आंका गया है.  27 अक्टूबर 2023 तक या फिर दोनों पक्षों को मंजूर हो उस तारीख तक हिस्सेदारी बेचने की प्रक्रिया को पूरा कर लिया जाएगा.  

टाटा मोटर्स के मुताबिक 1467 करोड़ रुपये टीपीजी राइज क्लाइमेट को टाटा टेक्नोलॉजीज में 9 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर प्राप्त होगा. रतन टाटा एंडोमेंट फाउंडेशन को टाटा टोक्नोलॉजीज में अपनी 0.9 फीसदी हिस्सेदारी बेचकर टाटा मोटर्स को 146.7 करोड़ रुपये मिलेंगे. टीपीजी राइज क्लाइमेट एसएफ पीटीई लिमिटेड  ( TPG Rise Climate SF Pte. Ltd ) क्लाइमेट फोकस्ड प्राइवेट इक्विटी फंड है.  टीपीजी राइज क्लाइमेट टीपीजी के 18 बिलियन डॉलर के ग्लोबल इम्पैक्ट इंवेस्टिंग प्लेटफॉर्म है. 

टाटा टेक्नोलॉजीज टाटा मोटर्स की सब्सिडियरी कंपनी है जो जल्द ही आईपीओ लाने की तैयारी कर रही है. शेयर बाजार के रेग्यूलेटर से आईपीओ लॉन्च करने को मंजूरी मिल चुकी है. टाटा टेक्नोलॉजीज के आईपीओ में सभी शेयर्स ऑफर फॉर सेल के जरिए बेचा जाएगा. यानि कंपनी के प्रमोटर टाटा मोटर्स आईपीओ के जरिए अपनी हिस्सेदारी बेचेगी. मौजूदा निवेशक 9.57 करोड़ शेयर्स आईपीओ में बेचेंगे जो कि 23.60 फीसदी हिस्सेदारी के बराबर है. टाटा टेक्नोलॉजीज के आईपीओ में नए शेयर्स नहीं जारी किए जायेंगे.

टाटा टेक्नोलॉजीज में हिस्सेदारी बेचने से पहले आज शेयर बाजार में टाटा मोटर्स के शेयर में जोरदार उछाल देखने को मिला है. टाटा मोटर्स का शेयर 4.76 फीसदी के उछाल के साथ 667.15 रुपये पर क्लोज हुआ है. 

ये भी पढ़ें 

UBS Downgrades SBI: बगैर गारंटी वाले रिटेल लोन के डूबने का बढ़ा खतरा, यूबीएस ने इन बैंकों के स्टॉक्स का घटाया टारगेट प्राइस

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author