इस मंदिर में छिपा है सोने का भंडार, 1400 साल पुराना ये मंदिर भारत में नहीं है

1 min read

[ad_1]

जब भी किसी मंदिर की बात आती है तो लोगों के दिमाग में सबसे पहले भारत का नाम आता है. दरअसल, भारत के हर गली मोहल्लों में आपको मंदिर देखने को मिल जाएंगे, शायद इसीलिए कुछ लोग इस देश को मंदिरों का भी देश कहते हैं. यहां एक से बढ़कर एक ऐसे ऐसे मंदिर हैं जिनके भीतर इतना सोना रखा है कि आप सोच भी नहीं सकते. हालांकि, आज हम भारत के किसी मंदिर की नहीं बल्की नॉर्वे के एक मंदिर के बारे में बात कर रहे हैं. इस मंदिर को लेकर कहा जा रहा है कि ये सोने के खजाने से भरा हुआ है. चलिए आपको इसकी पूरी कहानी बताते हैं.

किस देवता का है ये मंदिर

नॉर्वे में मिला ये मंदिर नॉर्स देवताओं का है. इस मंदिर के भीतर से पुरातत्वविदों  को कुछ मूर्तियां भी मिली हैं. जिन पर इन देवताओं की तस्वीर बनाई गई है. ये सभी मूर्तियां सोने की बनी हैं. हालांकि, चौकोर आकार की ये मूर्तियां कागज़ की तरह पतली हैं. एक्सपर्ट्स बताते हैं कि इन मूर्तियों पर नॉर्स देवता फ्रोय और देवी गर्ड की तस्वीरें बनी हैं.

कितना सोना मिला है

यूनिवर्सिटी ऑफ ओस्लो की एक रिपोर्ट के मुताबिक, ये मूर्तियां मेरोविंगियन काल की हैं जो करीब 550 ईस्वी के आसपास शुरू हुआ था. ये मेरोविंगियन काल वाइकिंग युग तक जारी रहा था. आपको बता दें, वाइकिंग लोग काफी शक्तिशाली माने जाते थे और उन्होंने अपनी सभ्यता और धर्म को काफी दूर दूर तक फैलाया था. वहीं जहां तक रही सोना मिलने की बात तो यहां लगभग 35 सोने के टुकड़े मिले हैं. यहां के लोगों का मानना है कि इस मंदिर के भीतर तहखाने में अकूत सोना भरा हुआ है. हालांकि, अभी तक इसकी खोज हो नहीं पाई है.

ये भी पढ़ें: अमेरिका को मिल गया अंतरिक्ष में सोने का क्षुद्रग्रह? नासा भेज रही है स्पेस क्राफ्ट

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author