इस हफ्ते आग की अंगूठी बन जाएगा सूरज, फिर ऐसा सीधे 2046 में होगा! देखिए क्या होने वाला है?

1 min read

[ad_1]

Ring of Fire Sun: एक वलयाकार सूर्य ग्रहण 14 अक्टूबर को आसमान में दिखाई देगा. द इंडिपेंडेंट की रिपोर्ट के अनुसार, यह 2012 के बाद पहली बार उत्तर, मध्य और दक्षिण अमेरिका के आसमान में दिखाई देगा और 2046 तक दोबारा दिखाई नहीं देगा. नासा मुख्यालय में हेलियोफिजिक्स डिवीजन के कार्यवाहक डायरेक्टर पेग लूस ने कहा कि दुर्लभ खगोलीय घटना लोगों को अग्नि ग्रहण की एक सुंदर अंगूठी को देखने का शानदार और आश्चर्य तौर पर देखने का मौका देगी.

नासा की वेबसाइट पर देख सकेंगे लाइव

रिंग ऑफ फायर संयुक्त राज्य अमेरिका, मैक्सिको और दक्षिण और मध्य अमेरिका के कई देशों में दिखाई देगा, पश्चिमी गोलार्ध में लाखों लोग इस दुर्लभ घटना का अनुभव कर सकते हैं. नासा इस घटना को लाइवस्ट्रीम करेगा, अंतरिक्ष एजेंसी ने सूर्य ग्रहण की प्रगति को ट्रैक करने के लिए एक इंटरैक्टिव मानचित्र भी बनाया है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने वलयाकार सूर्य ग्रहण देखने वाले किसी भी व्यक्ति को सूर्य को देखने के लिए डिज़ाइन की गई विशेष नेत्र सुरक्षा पहनने की सलाह दी है.

इन बातों का रखें ध्यान

नासा ने एक विज्ञप्ति में कहा कि ग्रहण के दौरान, आकाश धुंधला हो जाएगा, हालांकि पूर्ण सूर्य ग्रहण के दौरान उतना अंधेरा नहीं होगा. कुछ जानवर ऐसा व्यवहार करना शुरू कर सकते हैं जैसे कि शाम हो गई है और हवा ठंडी महसूस हो सकती है. ग्रहण चश्मा पहनते समय या हैंडहेल्ड सौर दर्शक का उपयोग करते समय कैमरे के लेंस, दूरबीन, दूरबीन, या किसी अन्य ऑप्टिकल उपकरण के माध्यम से सूर्य को न देखें केंद्रित सौर किरणें फिल्टर के माध्यम से जल जाएंगी और आंखों को गंभीर चोट पहुंच सकती है.

भारत में नहीं देगा दिखाई ये ग्रहण

‘रिंग ऑफ फायर’ सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. भारत और दुनिया के अन्य हिस्सों में लोग इसे नासा के आधिकारिक प्रसारण के माध्यम से अपने यूट्यूब चैनल पर देख सकते हैं, जिसकी स्ट्रीमिंग 14 अक्टूबर 2023 को शाम 4:30 बजे शुरू होगी. 

ये भी पढ़ें: लैपटॉप और मोबाइल से निकलने वाली नीली रोशनी का इलाज है चश्मा? जानें क्या कहता है साइंस

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author