ईरान, मिस्र, यमन और पाकिस्तान समेत इन देशों में इजरायल के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग, जानें

1 min read

[ad_1]

Israel Palestine Conflict: फलस्तीन के समर्थन और गाजा में इजरायल की बढ़ती बमबारी के खिलाफ पूरे मध्य पूर्व में हजारों मुसलमानों ने शुक्रवार की नमाज के बाद विरोध प्रदर्शन किया. इससे व्यापक क्षेत्रीय संघर्ष के खतरे की आशंका भी गहरा गई है क्योंकि इजरायल गाजा में संभावित जमीनी आक्रमण की तैयारी कर रहा है. 

उत्तरी गाजा में 10 लाख से ज्यादा लोगों को 24 घंटे के भीतर दक्षिणी क्षेत्र में जाने के लिए कहा गया है. हफ्तेभर पहले गाजा से चलने वाले चरमपंथी संगठन हमास ने अचानक दक्षिणी इजरायल में हमला बोल दिया था. जिसके बाद जंग शुरू हो गई और अब भी जारी है. 

जॉर्डन से लेकर यमन तक विरोध प्रदर्शन

न्यूज एजेंसी एपी के मुताबिक, शुक्रवार को जॉर्डन के शहर अम्मान की आम तौर पर शांत सड़कों से लेकर जंग के घाव झेल चुकी यमन की राजधानी साना तक नमाज के बाद मुस्लिम श्रद्धालुओं की भीड़ सड़कों पर उमड़ पड़ी. लोग गाजा में किए गए विनाशकारी इजरायली हवाई हमलों से नाराज थे.

शुक्रवार को अल-अक्सा में पहुंचे केवल 5000 हजार लोग

उधर, हिंसा की आशंका को सीमित करने के प्रयास के तहत यरूशलम की अल-अक्सा मस्जिद में इजरायली पुलिस केवल कुछ बुजुर्गों, महिलाओं और बच्चों को प्रार्थना के लिए परिसर में प्रवेश करने दे रही थी. मस्जिद की देखरेख करने वालों ने कहा कि केवल 5,000 लोग ही इस स्थान पर पहुंचे लेकिन एक सामान्य शुक्रवार को यहां करीब 50,000 लोग प्रार्थना करते हैं.

अल-अक्सा मस्जिद एक पहाड़ी परिसर में है जो यहूदियों और मुसलमानों दोनों के लिए पवित्र है. अल-अक्सा मस्जिद इस्लाम में तीसरा सबसे पवित्र स्थल है और यह उस जगह पर है जिसे यहूदी टेंपल माउंट कहते हैं, जो यहूदी धर्म में सबसे पवित्र स्थल है. 

बेरूत में हिजबुल्लाह समर्थकों ने किया प्रदर्शन

बेरूत में लेबनान के हिजबुल्लाह चरमपंथी समूह के हजारों समर्थकों ने लेबनानी, फलस्तीनी और अपने झंडे लहराए, साथ ही गाजा के समर्थन में और इजरायल के खिलाफ नारे लगाए. हमास के हमले के बाद से ईरान समर्थित चरमपंथी समूह ने पड़ोसी लेबनान में छिटपुट हमले शुरू किए हैं लेकिन ज्यादातर युद्ध से दूर रहा है.

इराक और ईरान और सीरिया में हुआ प्रदर्शन

बगदाद में हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी तहरीर चौक पर जमा हुए. हमास के समर्थक और इजराइल के क्षेत्रीय कट्टर दुश्मन ईरान में भी प्रदर्शनकारी शुक्रवार की प्रार्थना के बाद सड़कों पर उतर आए. तेहरान में उन्होंने इजरायली और अमेरिकी झंडे जलाए और नारे लगाए. सीरिया की राजधानी दमिश्क में भी प्रदर्शनकारियों ने रैली निकाली.

मिस्र, पाकिस्तान और जर्मनी में सड़कों पर उतरे लोग

शुक्रवार की नमाज के बाद मिस्र के काहिरा में ऐतिहासिक अल-अजहर मस्जिद में शुक्रवार की नमाज के बाद लोगों ने इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन किया. उन्होंने कहा कि इजरायल पीढ़ी दर पीढ़ी उनका दुश्मन बना रहेगा.

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में कुछ नमाजियों ने फलस्तीन के समर्थन और अमेरिका और इजरायल के खिलाफ प्रदर्शन किया और नारेबाजी की. वहीं, फलस्तीन समर्थकों ने शुक्रवार को जर्मनी के सीजेन शहर में इजरायल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और नारेबाजी की.

यह भी पढ़ें- गाजा में पहली बार इजरायल की सेना का ग्राउंड ऑपरेशन, जंग में अब तक 3000 से ज्यादा लोगों की गई जान, पढ़ें दिनभर का अपडेट

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author