कभी निवेशकों को कर रहा था कंगाल, अभी मल्टीबैगरों में होने लगी इस शेयर की गिनती

1 min read

[ad_1]

Best Multibagger Stocks to Buy: फूड डिलीवरी स्टॉक जोमैटो के शेयरों ने हालिया महीनों में अच्छी रिकवरी दिखाई है. करीब 2 साल पहले शेयर बाजार में उतरी नए जमाने की कंपनियों में जोमैटो भी एक थी, जिसने आईपीओ के साथ बाजार में खूब चर्चा बटोरी थी, लेकिन बाद में निवेशकों को कंगाल कर दिया था. हालांकि हालिया महीनों में जोमैटो ने शानदार रिकवरी दर्ज की है.

आईपीओ को मिला था बंपर रिस्पॉन्स

फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो जुलाई 2021 में अपना आईपीओ लेकर आई थी. कंपनी के आईपीओ को शानदार रिस्पॉन्स भी मिला था. जोमैटो का शेयर 76 रुपये के इश्यू प्राइस की तुलना में करीब 53 फीसदी की छलांग लगाकर एनएसई पर 116 रुपये के भाव पर लिस्ट हुआ था. हालांकि उसके बाद जोमैटो के शेयरों में गिरावट का दौर शुरू हो गया.

अभी भी नहीं आया वो लेवल

उस समय जोमैटो, पेटीएम, नायका समेत नए जमाने की तमाम टेक कंपनियों के शेयर भरभरा कर गिर रहे थे और अपने निवेशकों के पैसे की चपत लगा रहे थे. लिस्टिंग के बाद जोमैटो का एमकैप 1 लाख करोड़ रुपये के पार निकल गया था. गिरावट के दौर का अंदाजा इस बात से लगा सकते हैं कि अभी भी कंपनी का शेयर और उसकी वैल्यू ओपनिंग वाले स्तर तक नहीं पहुंच पाई है. अभी जोमैटो का बाजार पूंजीकरण 75,300 करोड़ रुपये है.

5 महीने में डबल से ज्यादा

जोमैटो का शेयर शुक्रवार को करीब 2 फीसदी के नुकसान के साथ 89.25 रुपये पर बंद हुआ था. पिछले 5 दिनों में इसके भाव में करीब 5 फीसदी की गिरावट आई है. एक महीने के हिसाब से देखें तो शेयर 11 फीसदी से ज्यादा की तेजी में है, जबकि बीते 6 महीने में भाव करीब 65 फीसदी ऊपर गया है. मार्च में एक समय शेयर 44 रुपये के भाव तक गिर गया था. इस तरह देखें तो पिछले 5 महीने में जोमैटो के शेयरों ने 100 फीसदी से ज्यादा की रिकवरी की है और लो लेवल की तुलना में डबल से ज्यादा हो चुका है.

शेयर वोलेटाइल रहने की आशंका

ब्रोकरेज फर्म जेएम फाइनेंशियल का मानना है कि जोमैटो के शेयर आने वाले दिनों में वोलेटाइल रह सकते हैं. जेएम फाइनेंशियल के अनुसार, बाजार में इस बात के कयास लगाए जा रहे हैं कि जोमैटो के कुछ प्री-आईपीओ इन्वेस्टर एक्जिट कर सकते हैं, जिनमें वेंचर कैपिटल, प्राइवेट इक्विटी और चीनी निवेशक शामिल हैं. हालांकि अभी ये स्पष्ट तौर पर नहीं कहा जा सकता है कि वे कब एक्जिट करेंगे, लेकिन कयासों के चलते भाव में उथल-पुथल रह सकती है.

डिस्क्लेमर: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.

ये भी पढ़ें: रिलायंस इंडस्ट्रीज से लेकर ऑयल इंडिया तक कतार में, इस सप्ताह जमकर होगी निवेशकों की कमाई

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author