जारी है विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट का सिलसिला, 584.75 बिलियन डॉलर पर आ गया रिजर्व

1 min read

[ad_1]

India Foreign Exchange Reserves: विदेशी निवेशकों की बिकवाली के चलते विदेशी मुद्रा भंडार में गिरावट जा रही है. 6 अक्टूबर 2023 को खत्म हुए सप्ताह में विदेशी मुद्रा भंडार 2.16 अरब डॉलर की गिरावट के साथ 584.75 बिलियन डॉलर पर आ गया है जो इसके पहले हफ्ते में  586.908 अरब डॉलर रहा था.  

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने शुक्रवार को विदेशी मुद्रा भंडार का डेटा जारी किया है. जिसके मुताबिक विदेशी मुद्रा भंडार 2.16 बिलियन डॉलर घटकर 584.75 बिलियन डॉलर पर आ गया है. देश के गोल्ड रिजर्व का मूल्य 57.6 करोड़ डॉलर घटकर 43.731 अरब डॉलर रह गया है. जबकि विदेशी करेंसी एसेट्स 707 मिलियन डॉलर की गिरावट के साथ घटकर 519.52 बिलियन डॉलर पर आ गया है. आबीआई का गोल्ड रिजर्व 1.42 बिलियन डॉलर की गिरावट के साथ 42.30 बिलियन डॉलर का रह गया है. एसडीआर 15 मिलियन डॉलर की कमी के साथ 17.92 बिलियन डॉलर पर आ गया है. जबकि इंटरनेशनल मॉनिटरी फंड में रिजर्व 19 मिलियन डॉलर की कमी के साथ 49.83 बिलियन डॉलर रह गया है.  

विदेशी मुंद्रा भंडार में एक तरफ गिरावट आ रही है वहीं दूसरी तरफ डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी जारी है. शुक्रवार 13 अक्टूबर को एक डॉलर के मुकाबले रुपया 83.26 रुपये पर क्लोज हुआ है. पिछले कई दिनों से डॉलर के मुकाबले रुपया 83 के लेवल क ऊपर बना हुआ है. एक तरफ रुपये के मुकाबले डॉलर मजबूत हो रहा है वहीं वैश्विक कारणों के चलते कच्चे तेल की कीमतों में भी तेजी जारी है जिसके बाद आरबीआई के विदेशी करेंसी रिजर्व में और कमी आने की संभावना है. दरअसल सरकारी तेल कंपनियों को कच्चा तेल खरीदने के लिए ज्यादा डॉलर की आवश्यकता होगी.  

अक्टूबर 2021 में देश का विदेशी मुद्रा भंडार 645 अरब डॉलर के सबसे उच्चतम स्तर पर पहुंच गया था. हालांकि पिछले साल ग्लोबल घटनाक्रम से पैदा हुए दबावों के बीच आरबीआई ने रुपये के एक्सचेंज रेट में गिरावट को रोकने के लिए इस पूंजी भंडार का उपयोग किया था जिससे विदेशी मुद्रा भंडार में कमी देखी गई है. 

ये भी पढ़ें 

UBS Downgrades SBI: बगैर गारंटी वाले रिटेल लोन के डूबने का बढ़ा खतरा, यूबीएस ने इन बैंकों के स्टॉक्स का घटाया टारगेट प्राइस

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author