भारत का प्रोपर्टी मार्केट 2030 तक बढ़कर हो जाएगा एक ट्रिलियन डॉलर, यहां होगी ज्यादा डिमांड! 

1 min read

[ad_1]

Indian Property Market: वित्त वर्ष 2021 के दौरान भारत का प्रोपर्टी मार्केट 200 अरब डॉलर था. अब अनुमान लगाया जा रहा है वित्त वर्ष 2030 तक यह सेक्टर एक ट्रिलियन बढ़कर हो जाएगा. वहीं उम्मीद है कि रियल एस्टेट सेक्टर 2025 तक देश की जीडीपी में 13 फीसदी का का योगदान देगा. 

CNBC-TV18 की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत का रियल एस्टेट सेक्टर का भविष्य काफी अच्छा है और आने वाले समय में यह तेजी से तरक्की करने वाला है. इंडिया का रियल एस्टेट सेक्टर में निवेशकों की संख्या और पैसा तेज गति से बढ़ने वाला है. इसे और सरल तरीके से कहें तो आने वाले समय में इस सेक्टर के निवेशकों के लिए अच्छा समय होने की उम्मीद है.  

कुछ शहरों में सबसे ज्यादा बढ़ेगी मांग 

रियल एस्टेट सेक्टर में उछाल देश के कुछ शहरों में सबसे ज्यादा मांग लेकर आएगा. इसमें मुंबई, दिल्ली और बेंगलुरु जैसे बड़े शहर शामिल हैं. रिपोर्ट में कहा गया है कि इन शहरों के कुछ हिस्सों में बजट में प्रॉपर्टी बिकेंगी और लोगों का इसकी ओर रुझान ज्यादा हो सकता है. 

मुंबई में यहां सस्ते में मिल रहा अपार्टमेंट 

एक्सपर्ट के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि मुंबई के भीतर कुछ क्षेत्र खासकर कांजुर मार्ग, विक्रोली और भांडुप में करीब 70 फीसदी प्रॉपर्टी की खरीदारी की गई है. इस एरिया के भीतर एक बेडरूम वाले अपार्टमेंट की कीमत 80 लाख रुपये से 90 लाख रुपये तक है, जबकि दो बेडरूम वाले अपार्टमेंट की कीमत 1.5 करोड़ रुपये तक है.  

कीफायती कीमत में यहां भी मिल सकते हैं घर 

गौरतलब है कि भारतीय रियल एस्टेट क्षेत्र विकास और अवसर के प्रतीक के तौर पर उभर रहा है. मुंबई में एक और आशाजनक रास्ता पश्चिमी गलियारे में है, जिसमें बोरीवली, कांदिवली, दहिसर जैसे क्षेत्र शामिल हैं. यह आने वाले समय में एक कीफाय​ती कीमत में अपार्टमेंट पेश कर सकता है. 

ये भी पढ़ें 

Air Fare Hike: दिवाली पर फ्लाइट से घर जाना होगा और महंगा, हवाई किराये में 89 फीसदी तक की बढ़ोतरी!

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author