मुश्किलों के बाद भी दूसरे सप्ताह तेजी, अब एक-साथ कई चुनौतियों, इस सप्ताह कैसा रहेगा बाजार?

1 min read

[ad_1]

प्रतिकूल परिस्थितियों के बीच घरेलू बाजार पिछले सप्ताह भी बढ़त लेने में कामयाब रहा. इस तरह बाजार लगातार दूसरे सप्ताह फायदे में बंद हुआ. हालांकि दोनों सप्ताह के दौरान घरेलू बाजार की तेजी मामूली रही है. अब कल सोमवार से नया सप्ताह शुरू हो रहा है. इस दौरान बाजार के सामने नई चुनौतियां सामने आने वाली हैं. आइए जानते हैं कि नया सप्ताह बाजार के लिए कैसा रह सकता है…

ऐसा रहा है पिछला सप्ताह

सबसे पहले बात पिछले सप्ताह की करें तो इस दौरान बीएसई सेंसेक्स 550 अंक से ज्यादा की तेजी आई. हालांकि सप्ताह के अंतिम दिन शुक्रवार को सेंसेक्स 125.65 अंक यानी 0.19 फीसदी लुढ़ककर 66,282.74 अंक पर बंद हुआ था. इसी तरह निफ्टी शुक्रवार को 42.95 अंक गिरकर 19,751.05 अंक पर बंद हुआ था. सप्ताह के दौरान निफ्टी में 245 अंक यानी करीब 1.25 फीसदी की तेजी आई थी.

उससे पहले 6 अक्टूबर को समाप्त हुए सप्ताह के दौरान सेंसेक्स में करीब 315 अंक यानी 0.48 फीसदी की तेजी आई थी, जबकि निफ्टी को 0.45 फीसदी का फायदा हुआ था. उसके साथ ही बाजार की लगातार 2 सप्ताह की गिरावट थम गई थी. सितंबर के आखिरी दोनों सप्ताह के दौरान घरेलू बाजार में गिरावट दर्ज की गई थी.

बाजार को प्रभावित करने वाले फैक्टर

अब 16 अक्टूबर से शुरू हो रहे नए सप्ताह को देखें तो इस दौरान कई फैक्टर बाजार पर असर डाल सकते हैं. सबसे पहले तो कंपनियों के तिमाही परिणाम बाजार पर असर डालेंगे. आईटी कंपनियों ने सीजन की उम्मीद से कमतर शुरुआत की है, जिसका असर बाजार पर दिखा भी है. इजरायल और हमास के बीच युद्ध जारी रहने से भी बाजार प्रभावित होगा. युद्ध के चलते कच्चा तेल 90 डॉलर प्रति बैरल के पार निकल गया है, जबकि एफपीआई करीब 10 हजार करोड़ रुपये की बिकवाली पिछले दो सप्ताह में कर चुके हैं.

घरेलू मोर्चे पर इनका असर

घरेलू मोर्चे पर भी बाजार को नए सप्ताह के दौरान कई फैक्टर प्रभावित कर सकते हैं. रिजर्व बैंक की हालिया मौद्रिक नीति समिति की बैठक के मिनट्स नए सप्ताह के दौरान 19 अक्टूबर को जारी होने वाले हैं. सप्ताह के पहले दिन 16 अक्टूबर को थोक महंगाई के आंकड़े जारी होने वाले हैं. थोक महंगाई अगस्त महीने के दौरान लगातार पांचवीं बार शून्य से कम रही थी.

डिस्क्लेमर: यहां मुहैया जानकारी सिर्फ सूचना हेतु दी जा रही है. यहां बताना जरूरी है कि मार्केट में निवेश बाजार जोखिमों के अधीन है. निवेशक के तौर पर पैसा लगाने से पहले हमेशा एक्सपर्ट से सलाह लें. ABPLive.com की तरफ से किसी को भी पैसा लगाने की यहां कभी भी सलाह नहीं दी जाती है.

ये भी पढ़ें: भारतीय बाजार से विदेशी निवेशकों ने निकाले 9,800 करोड़, जानें क्यों अक्टूबर में बिकवाल बने एफपीआई?

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author