‘मेरी बेटी ने ओमकारा में काम नहीं किया’, ‘गैर इस्लामिक’ कहे जाने पर भड़कीं महबूबा मुफ्ती

1 min read

[ad_1]

Mahbooba Mufti Reply To Trollers: जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने उस दावे पर सफाई दी है, जिसमें कहा गया था उनकी बड़ी बेटी इर्तिका मुफ्ती ने ओमकारा फिल्म में अभिनय किया था. मामले में रविवार (27 अगस्त) को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स (ट्विटर) पर सफाई देते हुए उन्होंने कहा कि उनकी बड़ी बेटी इर्तिका मुफ्ती ने ओमकारा फिल्म में काम नहीं किया था. 

बता दें कि महबूबा मुफ्ती की बेटियों को लेकर यह कोई नया दावा नहीं है. इससे पहले भी कई बार सोशल मीडिया पर उनकी दोनों बेटियों के बारे में कई दावे किए जा चुके हैं. पूर्व मुख्यमंत्री ने ट्वीट करते हुए कहा कि उन्हें गर्व है कि उनके भाई ने (फिल्म) ‘ओमकारा’ को शूट किया. इसी के साथ उन्होंने उनकी बेटी की एक्टिंग को लेकर किए गए दावे को बेतुका करार दिया. उन्होंने संबंधित ट्वीट करने वाले को ‘दो रुपये का ट्रोल’ भी बताया.

महबूबा मुफ्ती की बेटियों को लेकर क्या था दावा?
दरअसल, इम्तियाज महमूद नाम के शख्स ने मेहबूबा मुफ्ती पर यह कहते हुए हमला किया कि उनकी बेटियां ‘गैर-इस्लामी’ जीवन जीती हैं. दो तस्वीरों के साथ शेयर की गई पोस्ट में लिखा गया, “ये महबूबा मुफ्ती की 2 बेटियां इर्तिका और इल्तिजा मुफ्ती हैं. एक बैकडोर से आईएफडी बन गई और अब लंदन में काम कर रही है, जबकि दूसरी बॉलीवुड में अभिनय कर रही है. वह ओमकारा फिल्म में नजर आई थीं. दोनों गैर इस्लामिक जीवन जीती हैं, लेकिन महबूबा मुफ्ती चाहती हैं कि सभी कश्मीरी लड़कियां बुर्के में रहें.”

ट्वीट पर मेहबूबा मुफ्ती का पूरा रिएक्शन
पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) नेता मेहबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया, ”दो रुपये वाले ट्रोल्स निर्देशित पेटेंट झूठ फैलाते हैं. इल्तिजा, मेरी छोटी बेटी, जिसे लंदन में ‘आईएफएस’ अधिकारी के रूप में काम करना चाहिए, 2015 से कश्मीर में है. जहां तक दूसरे फर्जी दावे का सवाल है, मुझे गर्व है कि मेरे भाई तसद्दुक ने ओमकारा को शूट किया, लेकिन इस झूठ से ज्यादा बेतुका कुछ भी नहीं है कि मेरी बड़ी बेटी ने इसमें काम किया है.”

महबूबा मुफ्ती को लिया गया था हिरासत में
बता दें कि 2019 में अनुच्छेद 370 हटाए जाने से पहले महबूबा मुफ्ती को हिरासत में लिया गया था. उन्हें 14 महीने बाद रिहा कर दिया गया था. इस दौरान इल्तिजा अपनी मां के सोशल मीडिया अकाउंट संभाल रही थीं.

कानूनी लड़ाई लड़ रही हैं इल्तिजा
हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, इल्तिजा अपने पासपोर्ट के लिए कानूनी लड़ाई की वजह से खबरों में हैं. दरअसल, वह यूएई में पढ़ाई के लिए जाना चाहती थीं. इसके लिए उन्हें यूएई-स्पेसिफिक पासपोर्ट दिया गया था. इसकी वैधता 5 अप्रैल 2023 से 4 अप्रैल 2025 तक थी, जबकि इल्तिजा ने रेगूलर पासपोर्ट के लिए अपील की थी.

इर्तिका ने स्क्रीन राइटर की ट्रेनिंग ली
वहीं, इर्तिका ने स्क्रीन राइटर की ट्रेनिंग ली है और महबूबा के भाई तसद्दुक हुसैन मुफ्ती ने ओमकारा और कमीने में सिनेमैटोग्राफर के तौर पर काम किया था. वह 2017-2018 के बीच तत्कालीन जम्मू-कश्मीर के पर्यटन मंत्री भी रहे.

यह भी पढ़ें- Telangana Election: तेलंगाना में अमित शाह बोले- ओवैसी के हाथ में KCR की कार का स्टीयरिंग, 4G है कांग्रेस



[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author