मोदी सरकार ने 9 सालों में LPG के दाम 185 फीसदी बढ़ाए, घटाए सिर्फ 17.5 प्रतिशत-कांग्रेस का दावा

1 min read

[ad_1]

LPG Prices: एलपीजी सिलेंडर को लेकर केंद्र सरकार के सब्सिडी बढ़ाने के फैसले पर जमकर राजनीति हो रही है. घरेलू रसोई गैस की कीमत में प्रति सिलेंडर 200 रुपये की कमी के फैसले को लेकर पार्टी प्रवक्ता और सोशल मीडिया विभाग की प्रमुख सुप्रिया श्रीनेत ने जमकर सरकार पर हमला बोला. 

बढ़ाए 185 फीसदी, घटाए केवल 17.5 फीसदी दाम- कांग्रेस का आरोप

कांग्रेस ने बुधवार को दावा किया कि केंद्र सरकार ने पिछले नौ सालों में एलपीजी के दाम में 185 फीसदी की बढ़ोतरी की और अब सिर्फ 17.5 फीसदी की कमी की है. उन्होंने दावा किया कि इस सरकार ने पिछले 9.5 साल में फ्यूल पर टैक्स बढ़ाकर 30 लाख करोड़ की मुनाफाखोरी की है. कल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की बैठक में एलपीजी सिलेंडर के दाम 200 रुपये कम करने का फैसला लिया गया. 

सुप्रिया श्रीनेत ने एक वीडियो जारी किया

सुप्रिया श्रीनेत ने एक वीडियो जारी कहा कि विपक्षी गठबंधन ‘इंडियन नेशनल डेवलपमेंटल इन्क्लूसिव अलायंस’ (इंडिया) की ताकत के चलते सरकार रसोई गैस के दाम करने के लिए मजबूर हुई.”यह इंडिया” की ताक़त है कि रसोई गैस के दाम में आग लगाने वाले अब दाम घटाने को मजबूर हैं. कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, “ख़रीद की क्षमता के अनुसार, दुनिया में सबसे महंगी रसोई गैस भारत में बिकती है. देश में रसोई गैस के दाम साल 2014 में 400 रुपये प्रति सिलेंडर थे जो 2023 में 1140 रुपये हो गए. सरकार ने दाम में नौ सालों में 185 फीसदी का इजाफा कर डाला. अब अगस्त 2023 में रसोई गैस दाम 17.5 फीसदी घटाए गए.”

लगातार घट रही गैस की कीमत पर सरकार नहीं दे रही राहत- कांग्रेस

सुप्रिया के मुताबिक, भारत में रसोई गैस का दाम ‘सऊदी अरामको’ के एलपीजी दाम और डॉलर और रुपये की कीमत के आधार पर निर्भर करता है. सऊदी अरामको के एलपीजी दाम के मुताबिक, जनवरी, 2014 में एलपीजी की कीमत 1010 डॉलर प्रति मीट्रिक टन थी जो जनवरी, 2023 में घटकर 590 डॉलर प्रति मीट्रिक टन रह गई. अगस्त, 2023 में एलपीजी का दाम 470 डॉलर प्रति मीट्रिक टन था

ये भी पढ़ें

रक्षाबंधन पर 12 हजार करोड़ की सेल्स, राखी बिक्री के सभी रिकॉर्ड टूटे; आकर्षण बनीं चंद्रयान 3 और G-20 राखियां

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author