‘यहीं पैदा हुआ और यहीं मरूंगा. गाजा छोड़ना मेरे लिए कलंक जैसा’, इजरायल की चेतावनी पर बोला युवक

1 min read

[ad_1]

Israel Hamas War: इजरायल हमास युद्ध के बीच इजरायली डिफेंस फोर्स ने उत्तर गाजा में रहने वाले लोगों को 24 घंटे के भीतर इलाका खाली कर दक्षिण की ओर जाने की सलाह दी. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, इजरायल के इस फैसले से उत्तरी गाजा के 11 लाख लोग प्रभावित होंगे, जो पूरे गाजा पट्टी की आधी आबादी है. 

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक, शुक्रवार (13 अक्टूबर) की दोपहर तक उत्तरी गाजा में इतने बड़े पैमाने में पलायन की कोई खबर नहीं है. एएफपी ने मोहम्मद नाम के एक नागरिक से बात की जो गाजा में रहते हैं. मोहम्मद ने कहा, ‘किसी दूसरी जगह जाने से बेहतर हैं कि मर जाएं.’ उन्होंने कहा, ‘मैं यहीं पैदा हुआ हूं और यहीं मरूंगा. गाजा छोड़ना मेरे लिए एक कलंक है.’

गाजा में लोगों की निकासी पर अमेरिका का रूख?

व्हाइट हाउस के राष्ट्रीय सुरक्षा प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा, इतनी बड़ी संख्या में लोगों की निकासी एक जटिल आदेश था, लेकिन अमेरिका नागरिकों को रास्ते से हटने के लिए कहने के लिए अपने सहयोगी के फैसले पर शक नहीं करेगा. संयुक्त राष्ट्र सहायता प्रमुख मार्टिन ग्रिफिथ्स ने एक्स पर लिखा, “गाजा में नागरिकों पर शिंकजा कसा जा रहा है. 11 लाख लोगों को 24 घंटे से भी कम समय में कैसे स्थानांतरित किया जा सकता है?”

क्या है इजरायल का ‘आदेश’?

इजरायली सेना ने हमास पर आरोप लगाया है कि वह आम नागरिकों की इमारतों में छिपे हैं.  सेना ने कहा, “गाजा सिटी के नागरिक, अपनी और अपने परिवारों की सुरक्षा के लिए उत्तरी इलाके को खाली करें और हमास के आतंकवादियों से दूरी बनाएं जो आपको ढाल तौर पर इस्तेमाल कर रहा है.”

ये भी पढ़ें:

गाजा में पहली बार इजरायल की सेना का ग्राउंड ऑपरेशन, जंग में अब तक 3000 से ज्यादा लोगों की गई जान, पढ़ें दिनभर का अपडेट 



[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author