यूपी: अमरमणि त्रिपाठी जेल से रिहा, मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में काट रहे थे उम्रकैद की सजा

1 min read

[ad_1]

Amarmani Tripathi News: मधुमिता शुक्ला हत्याकांड (Madhumita Shukla Murder Case) में उम्रकैद की सजा काट रहे उत्तर प्रदेश (UP) के पूर्व मंत्री अमरमणि त्रिपाठी और उनकी पत्नी मधुमणि त्रिपाठी (Madhumani Tripathi) को रिहा कर दिया गया है. अमरमणि और मधुमणि आज घर नहीं जाएंगे. दोनों अभी अस्पताल में ही रहेंगे. अमरमणि त्रिपाठी और मधुमणि त्रिपाठी की रिहाई पर उनके बेटे अमनमणि त्रिपाठी (Amanmani Tripathi) की भी प्रतिक्रिया सामने आ गई है. 

अमरमणि त्रिपाठी ने कहा है, “यह ऊपरवाले का आशीर्वाद है. 20 साल से हम अपने माता-पिता के लिए इसका इंतजार कर रहे थे. आज वह घड़ी आ गई है. मैं और मेरा परिवार सभी बहुत खुश हैं. हर कोई खुश है, इसे शब्दों में बयान नहीं किया जा सकता है.” इससे पहले अमरमणि त्रिपाठी और उनकी पत्नी को मधुमिता शुक्ला हत्याकांड में कारागार विभाग की ओर से रिहा करने का आदेश जारी किया गया था. गोरखपुर के जेल अधीक्षक दिलीप पांडेय ने शुक्रवार को इसकी पुष्टि की थी.

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हैं अमरमणि-मधुमणि

यूपी शासन के कारागार प्रशासन और सुधार अनुभाग के विशेष सचिव मदन मोहन ने गुरुवार को राज्य की 2018 की रिहाई नीति का जिक्र करते हुए अमरमणि त्रिपाठी की समय से पहले रिहाई संबंधी एक आदेश जारी किया था. अधिकारी ने आदेश का हवाला देते हुए कहा कि विभाग ने उनकी वृद्धावस्था और जेल में अच्छे आचरण का जिक्र किया. अमरमणि की उम्र 66 साल और मधुमणि 61 साल की हैं. इस समय अमरमणि और उनकी पत्नी दोनों स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के चलते गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में हैं.

2003 में हुई थी मधुमिता शुक्ला की हत्या

कवयित्री मधुमिता शुक्ला की नौ मई 2003 को पेपर मिल कॉलोनी, लखनऊ में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, घटना के वक्त वह गर्भवती थीं. अमरमणि त्रिपाठी को सितंबर 2003 में कवयित्री की हत्या के सिलसिले में गिरफ्तार किया गया था जिनके साथ वह कथित तौर पर रिश्ते में थे. इस मामले की जांच सीबीआई को दी गई थी. देहरादून की एक अदालत ने अक्टूबर 2007 में मधुमिता की हत्या के लिए अमरमणि और उनकी पत्नी मधुमणि को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी, बाद में नैनीताल हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट ने दंपति की सजा को बरकरार रखा था.

राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार में रह चुके हैं मंत्री

महराजगंज जिले की लक्ष्‍मीपुर (अब नौतनवा) विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित अमरमणि त्रिपाठी, कल्‍याण सिंह, राम प्रकाश गुप्ता और राजनाथ सिंह के नेतृत्व वाली बीजेपी की सरकार में मंत्री रह चुके हैं. मुलायम सिंह यादव के नेतृत्व वाली सरकार के दौरान वह सपा में थे और फिर वह बसपा में चले गए.

ये भी पढ़ें- UP Politics: सपा MP शफीकुर्रहमान बर्क ने CM योगी को बताया दोस्त तो डिंपल यादव बोलीं- ‘हम लोग हिंदू हैं…’

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author