वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को क्यों नहीं मिलती है असली ट्रॉफी, ये है नियम

1 min read

[ad_1]

World Cup 2023 Trophy: क्रिकेट के महाकुंभ वर्ल्ड कप का आगाज हो चुका है. 5 अक्टूबर से इस टूर्नामेंट की शुरुआत हुई. भारत ने क्रिकेट के इस सबसे बड़े टूर्नामेंट में शानदार शुरुआत की है. ऑस्ट्रेलिया को हराकर भारत ने अपने पहले ही मैच में जीत दर्ज की. वर्ल्ड कप शुरू होने के बाद से ही इसे लेकर क्रिकेट फैंस की दिलचस्पी भी लगातार बढ़ती जाती है. क्रिकेट फैंस गूगल बाबा से वर्ल्ड कप से जुड़ी ऐसी जानकारियां ले रहे हैं, जिन्हें ज्यादा लोग नहीं जानते हैं. एक सवाल ये भी है कि क्या वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी दी जाती है?

वर्ल्ड कप ट्रॉफी को लेकर सवाल
पिछले कई सालों से ये सवाल हर बार चर्चा का विषय बना रहता है. लोग ये जानने के लिए उत्सुक रहते हैं कि क्रिकेट वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को कौन सी ट्रॉफी मिलती है? जो ट्रॉफी तमाम शहरों में दिखाई जाती है, क्या उसी ट्रॉफी को जीतने वाली टीम को सौंपा जाता है? 

कहां जाती है असली ट्रॉफी?
दरअसल इस सवाल का जवाब है कि वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं दी जाती है. असली ट्रॉफी को पूरे टूर्नामेंट के दौरान रखा जाता है, जब टीम जीतती है तो उसे इस ट्रॉफी को दिया भी जाता है, जिसके साथ तमाम खिलाड़ी और टीम तस्वीरें लेती है, लेकिन आखिर में जो ट्रॉफी ये टीम घर लेकर जाती है वो एक रेप्लिका होती है. वर्ल्ड कप की तरह दिखने वाली इसी ट्रॉफी को टीम अपने साथ अपने देश लेकर जाती है. इसके बाद असली वर्ल्ड कप की ट्रॉफी को वापस आईसीसी के हेडक्वार्टर भेज दिया जाता है. 

इसी तरह हर साल क्रिकेट के इस महाकुंभ के लिए एक ट्रॉफी तैयार की जाती है, जो हूबहू वर्ल्ड कप ट्रॉफी की तरह दिखती है. इसे बनाने के लिए एक खास टीम होती है, जो बारीक नक्काशी कर ट्रॉफी की रेप्लिका तैयार करती है. इसमें चांदी और सोने का भी इस्तेमाल होता है और इस ट्रॉफी का वजन करीब 11 किलो तक होता है. 

ये भी पढ़ें: इन 5 ट्रेनों से होती है रेलवे को सबसे अधिक कमाई, इसके किराए में फ्लाइट से कर लेंगे सफर

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author