विष्णु प्रकाश आईपीओ को आखिरी दिन मिला जबरदस्त रेस्पांस, संस्थागत निवेशकों की बदौलत 88 गुना ओवरस

1 min read

[ad_1]

Vishnu Prakash IPO: एरोफ्लेक्स इंडस्ट्रीज के बाद विष्णु प्रकाश आर पुंगलिया लिमिटेड (Vishnu Prakash R Punglia Ltd) के आईपीओ को निवेशकों का जबरदस्त रेस्पांस मिला है. विष्णु प्रकाश आईपीओ (Vishnu Prakash IPO) आवेदन करने के आखिरी दिन संस्थागत और गैर-संस्थागत निवेशकों की ओर से मिले शानदार समर्थन सकी बदौलत 88 गुना ओवरसब्सक्राइब होकर क्लोज हुआ है. 

विष्णु प्रकाश आईपीओ में 61,80,000 शेयर्स संस्थागत निवेशकों के लिए रिजर्व रखे गए थे. और कुल 1,06,10,59,500 शेयर्स के लिए आवेदन मिला है और ये कोटा कुल 171.69 गुना सब्सक्राइब हुआ है. गैर-संस्थागत निवेशकों के लिए 46,35,000 शेयर्स रिजर्व रखे गए हैं और ये कोटा कुल 111.03 गुना सब्सक्राइब हुआ है. रिटेल निवेशकों के लिए 1,08,15,000 शेयर्स रखे गए थे और ये कोटा कुल 32 गुना सब्सक्राइब हुआ है. एम्पलॉयज के लिए 3,00,000 शेयर्स रखे गए और ये कुल 13 गुना सब्सक्राइब हुआ है. और कुल मिलाकर आईपीओ 88 गुना ओवरसब्सक्राइब हुआ है. 2,19,30,000 शेयर्स कंपनी ने जारी किए हैं और कुल 1,92,58,37, 550 शेयर्स के लिए आवेदन मिला है. 

विष्णु प्रकाश आईपीओ का आईपीओ 24 अगस्त को खुला था और 28 अगस्त आईपीओ आवेदन का आखिरी दिन था. कंपनी ने 94 से 99 रुपये प्रति शेयर प्राइस बैंड फिक्स किया है. कंपनी आईपीओ के जरिए 308.88 करोड़ रुपये जुटाने जा रही है. ग्रे मार्केट में विष्णु प्रकाश आईपीओ 55 रुपये प्रीमियम पर यानि इश्यू प्राइस से 55 फीसदी ऊपर कारोबार कर रहा है. यानि शेयर 154 रुपये तक लिस्ट हो सकता है. 

विष्णु प्रकाश आईपीओ का अलॉटमेंट 31 अगस्त तक पूरा कर लिया जाएगा. 1 सितंबर को निवेशकों को उनके पैसे रिफंड मिल जायेंगे. 4 सितंबर के निवेशकों के डिमैट खाते में शेयर्स क्रेडिट कर दिए जायेंगे. और 5 सितंबर को स्टॉक एक्सचेंज पर  आईपीओ की लिस्टिंग होगी. 

विष्णु प्रकाश आर पुंगलिया इंटीग्रेटेड इंजीनियरिंग, प्रॉक्योरमेंट, कंस्ट्रक्शन कंपनी है. कंपनी मुख्यतौर पर केंद्र राज्य सरकारों, ऑटोनॉमस बॉडीज, नौ राज्यों में प्राइवेट कंपनियों के लिए काम करती है. कंपनी मुख्य तौर पर वाटर सप्लाई प्रोजेक्ट्स, रेलवे प्रोजेक्ट्स, रोड प्रोजेक्ट्स के अलावा इरीगेशन नेटवर्क प्रोजेक्ट्स जैसे चार क्षेत्रों में काम करती है.   

ये भी पढ़ें 

PMGKAY: लोकसभा चुनाव पर मोदी सरकार की नजर, जून 2024 तक 80 करोड़ लोगों को मुफ्त अनाज देने पर फैसला संभव

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author