सिर्फ पटरी टूटना ही नहीं, इन वजहों से भी पलट सकते हैं ट्रेन के डिब्बे!

1 min read

[ad_1]

बिहार के बक्सर में रात नॉर्थ ईस्ट एक्सप्रेस ट्रेन के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद रेलवे के टेक्निकल सिस्टम पर भी बात हो रही है. जब भी कोई रेल हादसा होता है तो लोगों का सवाल होता है कि आखिर किस वजह से रेल हादसा हुआ और लोग ट्रेन के पटरी से उतरने का कारण खोजते हैं. बिहार में हुए ट्रेन एक्सीडेंट का कारण अभी पता नहीं चला है और जांच के बाद तस्वीर साफ होगी. जब तक बिहार हादसे की पूरी जानकारी सामने नहीं आती है तब तक आपको बताते हैं कि आखिर ट्रेन किस वजह से डीरेल हो जाती है यानी डिब्बे पटरी से उतर जाते हैं. तो जानते हैं रेल के पटरी से उतरने के क्या-क्या कारण हो सकते हैं…

किन कारणों से पटरी से उतर जाती है ट्रेन?

ट्रैक की दिक्क्त- ट्रेन के पटरी से उतरने के पीछे कई कारण है, जिसमें अहम कारण ट्रैक इश्यू है. जब कभी ट्रेन रूट के ट्रैक में कुछ दिक्कत होती है तो ट्रेन एक्सीडेंट के चांज बढ़ जाते हैं. जैसे कई बार ट्रैक कमजोर हो या फिर पटरी कहीं से टूटी हुई हो या पटरी के जॉइंट में कुछ दिक्कत होती है तो ऐसी घटनाएं हो जाती है. 

इसके अलावा खराब मौसम की वजह से ट्रैक वेल्ड में दिक्कत आ जाती है या फिर वे टूर जाते हैं, जिससे पटरी से उतरने का खतरा बढ़ जाता है. ये कारण ठंड के वक्त में ज्यादा होता है. साथ ही अगर ट्रैक पर लंबे समय तक अवरोध हो जाता है तो भी ट्रेन पलट सकती है और कई बार घुमाव में भार का बैलेंस ठीक ना होने की वजह से भी ऐसी घटनाएं होती हैं.

मशीनों का खराब होना- जब ट्रेन के इंजन में किसी पार्ट्स में गड़बड़ी होती है तो ऐसी घटनाएं होने के चांस बढ़ जाते हैं. जैसे कभी ब्रेक सिस्टम या पहिए के घूमने वाले सिस्टम में दिक्क्त हो जाती है तो भी ट्रेन पलट सकती है. लोकोमोटिव बियरिंग, कार बियरिंग, सस्पेंशन और कोई अन्य दिक्कत से प्रॉब्लम क्रिएट हो जाती है और कई बार ये दिक्कतें एक्सीडेंट का कारण बन जाती है. 

इंसानों से दिक्कत- इसके अलावा अगर ट्रेन ऑपरेटिंग सिस्टम में कोई रेलवे कर्मचारी की गलती हो जाए तो भी रेल हादसा हो सकता है. इसमें ट्रेन के कंट्रोल रूम के कर्मचारी काफी अहम होते हैं और उनसे ट्रैक चेंज, लाइट आदि में हुई दिक्कत पटरी से ट्रेन को उतरने का कारण बनती है. 

प्राकृतिक आपदाएं भी हैं कारण- कई ट्रेन हादसे प्राकृतिक आपदाओं की वजह से भी होते हैं. एकदम आई बारिश से मिट्टी के कटाव, भूस्खलन आदि से एक्सीडेंट का कारण बढ़ जाता है. 

ये भी पढ़ें- ट्रेन टिकट के वक्त जो 35 पैसे वाला इंश्योरेस लेते हैं, उससे हादसे के बाद कितने लाख रुपये मिलते हैं?

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author