सिर्फ पढ़ाई नहीं, बचपन से ही होती है मिलिट्री ट्रेनिंग! जानिए इजरायल में कैसे पढ़ते हैं बच्चे?

1 min read

[ad_1]

Education System In Israel: इजरायल – हमास के युद्ध के बाद से ये देश चर्चा में है. यहां के विभिन्न पहलुओं की बात करें तो एजुकेशन सिस्टम का भी नाम आता है. यहां का एजुकेशन सिस्टम दूसरे देशों की तुलना में काफी अच्छा है और एडवांस भी है. यहां पढ़ाई के तौर-तरीके आज के समय के हिसाब से हैं केवल किताबी ज्ञान पर फोकस न करते हुए यहां प्रैक्टिकल ट्रेनिंग पर बहुत बल दिया जाता है. इसके साथ ही कम उम्र से ही युवाओं को मिलिट्री ट्रेनिंग भी दी जाती है.

कैसा है एजुकेशन सिस्टम

इजरायल का नेशनल एजुकेशन सिस्टम मुख्य तौर पर पांच लेवल में बंटा है. प्री-प्राइमरी, प्राइमरी, सेकेंडरी, पोस्ट सेकेंडरी और हायर एजुकेशन. प्राइमरी एजुकेशन ग्रेड 1 से लेकर 6 तक, लोअर सेकेंडरी एजुकेशन ग्रेड 7 से 9 और अपर सेकेंडरी एजुकेशन ग्रेड 10 से 12. यहां किंडरगार्डन से लेकर दसवीं तक की एजुकेशन कंपलसरी है यानी सभी को स्कूल जाना होता है.

इस महीने में शुरू होता है स्कूल ईयर

यहां स्कूल ईयर 1 सितंबर को शुरू होता है और इस दिन शनिवार हुआ तो 2 सितंबर को शुरुआत होती है. यहां रविवार से हफ्ता शुरू होता है. बच्चों के लिए स्कूल 30 जून को खत्म होते हैं. यहां चार तरह के स्कूल होते हैं – स्टेट स्कूल, स्टेट स्कूल (रिलीजियस), अरब, ड्रूज स्कूल, प्राइवेट स्कूल और नॉवेल स्कूल.

इजरायली मैट्रिकुलेशन एग्जाम को ब्रगुट कहते हैं और कम से कम इसे पास करने के बाद ही मिलिट्री ज्वॉइन की जा सकती है. यहां शुरुआती शिक्षा मुफ्त में मिलती है.

मिलिट्री ट्रेनिंग है जरूरी

यहां के युवाओं के लिए मिलिट्री ट्रेनिंग जरूरी है. 18 साल की उम्र के बाद वे मिलिट्री ज्वॉइन कर सकते हैं और जिन्हें इसे ज्वॉइन नहीं करना उन्हें भी कुछ दिन इसकी जानकारी हासिल करनी होती है. यहां के एजुकेशन सिस्टम में महिलाओं के लिए 24 महीने यानी दो साल और पुरुषों के लिए 36 महीने यानी 3 साल की मिलिट्री ट्रेनिंग जरूरी होती है. ये इजरायल डिफेंस फोर्स से जुड़ते हैं. 

यह भी पढ़ें: AIIMS नागपुर में नॉन-फैकल्टी पद पर निकली भर्ती 

Education Loan Information:
Calculate Education Loan EMI

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author