‘हम सो रहे थे, अचानक आग-आग की आवाजें आने लगीं और फिर…’, घायलों ने सुनाई आपबीती

1 min read

[ad_1]

Tamil Nadu Train Fire: तमिलनाडु के मदुरै रेलवे स्टेशन पर एक ट्रेन के खड़े डिब्बे में शनिवार (26 अगस्त) सुबह आग (Madurai Train Fire) लगने से 10 यात्रियों की मौत हो गई. जिस डिब्बे में आग लगी, वह एक प्राइवेट पार्टी कोच (किसी व्यक्ति की ओर से बुक किया गया पूरा डिब्बा) था और उसमें सवार यात्री उत्तर प्रदेश के लखनऊ से मदुरै पहुंचे थे. इस हादसे में बचने वाले यात्रियों ने उस खौफनाक मंजर के बारे में बताया है. 

उत्तर प्रदेश की रहने वाली अलका प्रजापति घटना के समय डिब्बे में सो रही थीं. तभी आग-आग की आवाजें आने लगीं. आग का पता लगते ही अलका दरवाजे की तरफ भागी, लेकिन ट्रेन का दरवाजा बंद था. तभी किसी ने ताला तोड़कर इन यात्रियों को बाहर निकाला. ये आग शनिवार सुबह 5.15 बजे लगी और इसपर सुबह 7.15 बजे तक काबू पाया गया. 

“मैं ठीक से सांस नहीं ले पा रही थी”

अलका प्रजापति ने न्यूज़ एजेंसी पीटीआई को बताया कि हम सो रहे थे. जैसे ही हमने चीखें सुनीं तो बाहर भागने की कोशिश की. दरवाजा बंद था. मैं ठीक से सांस नहीं ले पा रही थी. अंदर बस भगवान का नाम ले रहे थे. उसी वक्त किसी ने ताला तोड़ दिया और हम बाहर आए. 15-20 मिनट बाद रेलवे कर्मचारी वहां पहुंचे और आग बुझाने की कोशिश की गई. 

“कुछ अंदर फंस गए”

एक अन्य यात्री विनोद कुमार ने बताया कि कि आग लगने के बाद अचानक चीख-पुकार से उनकी नींद खुल गई और फिर वो अपनी जान बचाने के लिए भागे. कुछ अंदर फंस गए. स्लीपर कोच होने के कारण वे जल्दी से नीचे नहीं उतर सके. जीवित बचे कुछ लोगों ने बताया कि वे रामेश्वरम जा रहे थे. 

घटना में घायल हुईं एक महिला रेखा ने न्यूज़ एजेंसी एएनआई से कहा कि मैं बीच वाली सीट पर लेटी थी और आग लगने की आवाज सुनी. हम सभी तुरंत भागे और खिड़की के पास पहुंचे, लेकिन वह बंद थी. फिर हमने किसी तरह उसे खोला. जो पीछे थे वे भाग गए और जो आगे बैठे थे वे फंस गए. 

रेलवे ने क्या कहा?

दक्षिणी रेलवे ने डिब्बे में अवैध रूप से ले जाए गए गैस सिलेंडर को हादसे की वजह बताया है. दक्षिणी रेलवे के मुताबिक, मृतकों के परिजनों को दस-दस लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की गई है. ये एक प्राइवेट पार्टी कोच था, जिसे कल नागरकोविल जंक्शन पर ट्रेन संख्या 16730 (पुनालुर-मदुरै एक्सप्रेस) में जोड़ा गया था.

अधिकारियों ने बताया कि हादसे में डिब्बे में सवार 10 यात्रियों की मौत हो गई और 20 अन्य घायल हैं, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. डिब्बे में सवार यात्रियों ने 17 अगस्त को लखनऊ से यात्रा शुरू की थी. उनका कल (27 अगस्त को) चेन्नई जाने का कार्यक्रम था. चेन्नई से वे लखनऊ लौटने वाले थे.

ये भी पढ़ें- 

‘भारत के डिजिटल स्ट्रक्चर में कई देशों के नेता ले रहे दिलचस्पी’, PM मोदी बोले- दुनिया देख रही हमारी तरफ

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author