प्रतीकात्मक तस्वीर
– फोटो : iStock

विस्तार

पंजाब में अब चीनी डोर से पतंगबाजी करने वालों की खैर नहीं है। ऐसे लोगों पर पंजाब पुलिस ड्रोन से नजर रखेगी। पकड़े जाने पर कठोर कार्रवाई की जाएगी। यह फैसला आम लोगों की जान को ध्यान में रखकर किया गया है। सभी जिलों को इस दिशा में तुरंत प्रभाव से कार्रवाई का आदेश दिया गया है। इससे पहले चीनी डोर की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है।

जानकारी के मुताबिक राज्य में पतंगबाजी को लेकर काफी उत्साह है। बसंत पंचमी नजदीक होने के चलते यह मामले और बढ़ गए हैं लेकिन कुछ समय से यह बात देखने में आ रही है कि लोग पतंग उड़ाने में चीनी डोर का प्रयोग कर रहे हैं। इस वजह से लोग हादसों का शिकार हो रहे हैं। कुछ दिन पहले लुधियाना जिले में चार साल का बच्चा अपने परिजनों के साथ कार में सवार होकर जा रहा था। इस दौरान पतंग को देखकर उसने कार से अपना चेहरा बाहर निकाला था। इसी बीच उसकी गर्दन में पतंग की डोर उलझ गई थी। साथ ही उसके गर्दन व चेहरे पर सौ टांके लगे थे।

गंभीर हालत में उसे अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा था। इसी तरह अमृतसर में बाइक पर जा रहा 28 वर्षीय युवक चीनी डोर की चपेट में आकर घायल हो गया था। इससे उसे 20 टांके लगाने पड़े।

पतंग का कारोबार करने वाले एक दुकानदार ने कहा कि चीनी डोर नायलॉन या सिंथेटिक धागे से बनी होती है और इसे धारदार बनाने के लिए कांच के पाउडर और धातु का प्रयोग होता है। इसी तरह होशियारपुर में पतंग की डोर से व्यक्ति के घायल होने का मामला सामने आया है। आदेश आने के बाद लुधियाना, संगरूर समेत कई जिलों की पुलिस ड्रोन टीमें गठित कर दी हैं।

पुलिस ने 234 केस दर्ज 255 को गिरफ्तार किया

पुलिस के मुताबिक एक महीने में राज्य के विभिन्न जिलों में 234 केस दर्ज 255 लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी जिलों में केस दर्ज किए गए हैं। पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) सुखचैन सिंह गिल ने बताया कि पुलिस की टीमों ने इस दौरान 11,364 चीनी डोर बंडल (पतंग की डोर) बरामद किए हैं। पुलिस लोगों की सुरक्षा को लेकर गंभीर है।



Source link