एपल प्लांट पर शिवकुमार बनाम केसीआर! कांग्रेस नेता का CM पर ‘फर्जी चिट्ठी’ वायरल करने का आरोप

1 min read


DK Shivakumar on Foxconn: कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार ने फॉक्सकॉन के चेयरमैन को लिखी गई फर्जी चिट्ठी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है. इस चिट्ठी को लेकर कहा जा रहा है कि डीके शिवकुमार ने फॉक्सकॉन टेक्नोलॉजी ग्रुप के चेयरमैन यंग लू को कहा है कि वे एपल एयरपॉड्स मैन्युफेक्चरिंग यूनिट को हैदराबाद से कर्नाटक ट्रांसफर कर लें. शिवकुमार इस चिट्ठी को पहले ही फर्जी बता चुके हैं. 

डीके शिवकुमार ने रविवार (5 नवंबर) को बताया कि उन्होंने विधान सौधा पुलिस स्टेशन के साइबरक्राइम सेक्शन में एक एफआईआर दर्ज करवाई है. इस विवाद की शुरुआत तब हुई, जब सोशल मीडिया पर चिट्ठी वायरल होने लगी. तब एपल प्लांट को लेकर चर्चाएं भी शुरू होने लगीं. शिवकुमार ने आरोप लगाया कि तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (केसीआर) ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जानबूझकर फर्जी चिट्ठी को पोस्ट किया. उन्होंने उनके पोस्ट पर कमेंट भी किया. 

शिवकुमार ने क्या कहा? 

तेलंगाना सीएम के पोस्ट पर कमेंट करते हुए कांग्रेस नेता ने कहा, ‘ये फर्जी चिट्ठी है. मेरी चिट्ठी में अलग विशेषताएं थीं. मेरी चिट्ठी में नंबर्स थे. मेरा लेटरहेड हरे रंग का नहीं होता है. ये सामान्य विधायकों के जरिए इस्तेमाल होने वाला लेटरहेड है, जिसे विधायक 15 पहले इस्तेमाल किया करते थे. अब कोई भी विधायक हरे रंग के लेटरहेड का इस्तेमाल नहीं कर रहा है. मुझे ये बात बहुत अच्छे से मालूम है.’ 

उन्होंने आरोप लगाया कि चंद्रशेखर राव चालबाजी कर रहे हैं. शिवकुमार ने कहा कि तेलंगाना मुख्यमंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कीं, जहां वह डरे हुए थे. उन्होंने हमारी पार्टी से अपनी हार स्वीकार कर ली है. दरअसल, तेलंगाना में इस महीने विधानसभा चुनाव हो रहे हैं. इस चुनाव में कांग्रेस और चंद्रशेखर राव की पार्टी बीआरएस के बीच सीधा मुकाबला है. 

मामले की जांच शुरू हुई

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवकुमार के निजी सचिव राजेंद्र प्रसाद एमएन की तरफ से विधान सौदा पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई गई है. प्रसाद ने कहा कि चिट्ठी पर किया गया साइन फर्जी है और जिस लेटरहेड का इस्तेमाल किया गया, वो भी फर्जी है. विधान सौदा पुलिस स्टेशन के अधिकारियों ने शिकायत को लेकर ज्यादा जानकारी देने से इनकार कर दिया है. लेकिन इस बात की जानकारी सामने आई है कि मामले की जांच शुरू हो गई है. 

यह भी पढ़ें: ‘…तो राजनीति से संन्यास ले लूंगा’, आखिर क्यों बोले कर्नाटक के डिप्टी सीएम डीके शिवकुमार?



Source link

You May Also Like

More From Author