नवंबर में SIP के जरिए म्यूचुअल फंड में आया रिकॉर्ड 17,073 करोड़ रुपये का निवेश

1 min read


Mutual Fund:  नवंबर 2023 में SIP के जरिए किया जाने वाला निवेश रिकॉर्ड हाई पर जा पहुंचा है. नवंबर महीने में पहली बार 17,000 करोड़ रुपये से ज्यादा सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के जरिए म्यूचुअल फंड में निवेश आया है. जाहिर है म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए निवेशकों को सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान का तरीका बेहद रास आ रहा है. नवंबर में 14.1 लाख नए सिस्टमैटिक इंवेस्टमेंट प्लान के तहत निवेश के लिए अकाउंट्स खुले हैं और SIP अकाउंट्स की संख्या बढ़कर 7.44 करोड़ हो चुकी है जो कि ऐतिहासिक हाई लेवल है.  

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (AMFI) ने नवंबर महीने के लिए म्यूचुअल फंड में निवेश का डेटा जारी किया है. एम्फी के मुताबिक नवंबर में SIP के जरिए  17,073 करोड़ रुपये का निवेश आया है जबकि अक्टूबर 2023 में 16,928 करोड़ रुपये का निवेश आया था. SIP के जरिए निवेश बढ़ा है लेकिन नवंबर में इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश में गिरावट आई है. नवंबर में कुल 15,536 करोड़ रुपये का निवेश आया है जबकि अक्टूबर 2023 में 19,957 करोड़ रुपये का निवेश आया था. यानि नवंबर महीने में इक्विटी फंड्स में निवेश में 22.15 फीसदी की कमी आई है. कोटक म्यूचुअल फंड के सेल्स, मार्केटिंग, डिजिटल बिजनेस के हेड मनीष मेहता ने कहा, दिवाली के त्योहार और बैंक में छुट्टियों की वजह से नवंबर में इक्विटी इंफ्लो घटा है.   

एम्फी के डेटा के मुताबिक स्मॉल कैप और मिड कैप फंड स्कीमों में निवेशक सबसे ज्यादा निवेश कर रहे हैं. नवंबर में मिड कैप फंड में 3699.24 करोड़ रुपये और स्मॉल कैप में 2665.70 करोड़ रुपये का निवेश आया है. जबकि 2023 में जनवरी से नवंबर के बीच मिड कैप फंड्स में 37,178 करोड़ रुपये और स्मॉल कैप में 21,520 करोड़ रुपये का निवेश आया है. जबकि इस अवधि के दौरान लार्ज कैप से 2687 करोड़ रुपये के आउटफ्लो देखने को मिला है. 

एम्फी के मुताबिक नवंबर महीने में म्यूचुअल फंड्स का एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) 49.04 लाख करोड़ रुपये पर जा पहुंचा है जो कि अब तक का उच्चतम स्तर है.    

ये भी पढ़ें-

RBI Monetary Policy: नहीं मिली महंगे लोन से राहत, Repo Rate 6.5 फीसदी पर बरकरार; Nifty 21000 के पार



Source link

You May Also Like

More From Author