आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना: कोरोना काल में बेरोजगारों को मिल रहा बड़ा फायदा

आत्मनिर्भर भारत योजना ऑनलाइन फॉर्म

आत्मनिर्भर भारत योजना 2021

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना का अंतिम तिथि आगे बढ़ी

केंद्र सरकार ने आत्मनिर्भर भारत पैकेज 3.0 के तहत आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Aatmanirbhar Bharat Rozgar Yojana) का विस्तार 31 मार्च 2022 तक कर दिया है।

आत्मनिर्भर भारत योजना क्या है?

कोविड संक्रमण के कारण हमारे देश में बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या बनी हुई है। इसलिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने कोविड संक्रमण काल से उबर रहे भारत में रोजगार को बढ़ावा देने के लिए 1 अक्टूबर 2020 को नई योजना की शुरुआत है। इसे आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना नाम दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत कोरोना काल में नौकरी गंवाने वाले लोगों की मदद की जाएगी। इसके तहत सरकार द्वारा नई नौकरी पाने वाले और नई नौकरी देने वाले, दोनों को लाभ प्रदान किया जायेगा। आपके पास कोई भी रोजगार उपलब्ध नहीं है, तो आज का ये आर्टिकल आपके के लिए बहुत उपयोगी साबित हो सकता है क्योंकि हमारे द्वारा इस लेख में PM Aatm Nirbhar Bharat Rojgar Yojana 2020-21 से जुड़े सभी मुख्य बिंदुओं पर विस्तार से चर्चा की गयी है तथा इसके तहत आवेदन कैसे करना है इसके बारे में भी बताया गया है, इसलिए आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

आत्मनिर्भर भारत योजना 2021 के लाभ

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना (Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana) की शुरुआत एक अक्टूबर 2020 से मानी जाएगी। इसके तहत कोरोना काल में नौकरी गंवाने वाले लोगों की मदद की जाएगी। साथ ही कोरोना संक्रमण से उबरने के मौजूदा दौर में नौकरी देने वाले संस्थानों को भी प्रोत्साहन मिलेगा।

  • केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के अंतर्गत आगामी 2 वर्ष तक योजना के लाभ प्रदान करेगी।
  • इस योजना का लाभ कर्मचारी तथा संस्थान दोनों को प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना का लाभ के उन कर्मचारियों को प्रदान किया जायेगा। जिसका वेतन 15,000 या उससे कम है।
  • इस योजना के अनुसार यदि रजिस्टर्ड संस्था नए रोजगार के अवसर प्रदान करती है तो उन संस्थाओं कोAatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana के लाभ  प्रदान किये जायेंगे।
  • वे संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 1000 से कम है उन संस्थाओं में कर्मचारी के वेतन के अनुसार उसके हिस्से का 12% तथा रोजगार देने वाली संस्था के हिस्से का 12% जो कि कुल 24% हुआ, केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि ईपीएफओ के अंतर्गत जमा कराया जाएगा।
  • देश के जिन संस्थाओं के कमर्चारियों की क्षमता 1000 से अधिक है, तो ऐसे संस्थाओं के कमर्चारियों के वेतन के अनुसार उनके हिस्से का 12% और संस्था के हिस्से का 12% यानि कुल 24% केंद्र सरकार द्वारा भविष्य निधि ईपीएफओ के अंतर्गत जमा कराया जायेगा।
  • वे संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 50 से कम है तथा वे संस्थाएं दो या दो से अधिक कर्मचारियों को रोजगार प्रदान कर रही हैं और संस्थाओं द्वारा उन कर्मचारियों को भविष्य निधि के अंतर्गत पंजीकृत करती है, तो ही संस्था व कर्मचारी दोनों को योजना का लाभ प्रदान किया जा सकेगा।
  • प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना के तहत 52 लाख प्रतिष्ठानों को 8300 करोड़ रुपये का लाभ वितरित किया गया है। इससे 1.21 करोड़ लाभार्थियों को सामाजिक सुरक्षा लाभ मिला है।

आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना के विशेष लाभ

भारत सरकार विशेष रुप से 15000 रुपयों से भी कम कमाई करने वाले कर्मचारियों को इस योजना का लाभ देगी, जो इस प्रकार से निम्नलिखित हैं।

  • यूएएन अकाउंट नहीं होने वाले लोगों के लिए :-इस योजना का लाभ भारत सरकार उन्हें प्रदान करेगी, जिन्होंने 1 अक्टूबर से पहले किसी भी भविष्य निधि संगठन से संबंधित संस्थान में नौकरी नहीं की होगी एवं इसके अतिरिक्त उन सभी कर्मचारियों के पास उनका यूएएन अकाउंट नहीं होगा, उन्हें इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • कोविड-19 के चपेट में आने वाले कर्मचारी :-इसके अतिरिक्त इस योजना का लाभ सरकार उन्हें भी प्रदान करेगी, जिसके पास यूएएन अकाउंट तो है, लेकिन जिनकी सैलरी हर महीने 15 हजार रुपए से कम है। इसके अलावा जिनकी 1 मार्च से 30 सितंबर तक कोविड की वजह से नौकरी चली गई, उन्हें भी इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा। भारत सरकार ने कहा है, कि 1000 लोगों तक में रोजगार देने वाली कंपनियों के हिस्सों का खर्चा सरकार स्वयं उठाएगी और 1000 से अधिक लोगों को नए रोजगार प्रदान करने वाली कंपनियों के हर कर्मचारियों को 12 फ़ीसदी का अंशदान का खर्च 2 साल तक भारत सरकार निरंतर रूप से उठाएगी।

Atmanirbhar Bharat Rozgar Yojana की पात्रता मानदंड

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको दिए गए पात्रता मानदंडों को अनिवार्य रूप से निम्न प्रकार पूरा करना होगा-

  • ईपीएफओ में रोजगार में शामिल होने वाले किसी भी नए कर्मचारी को 15,000 रुपये से कम मासिक वेतन पर पंजीकृत प्रतिष्ठान दिया जायेगा।
  • इस ईपीएफ सदस्य 15,000 रुपये से कम का मासिक वेतन आहरण करते हैं, जिन्होंने 01/03/2020 से 30/09/2020 तक COVID महामारी के दौरान रोजगार से बाहर कर दिया और 01/10/2020 पर या उसके बाद कार्यरत हैं।
  • कोई भी संस्था यदि इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करनी चाहती है। तो उसका ईपीएफ़ओ रजिस्टर्ड होना आवश्यक है जिससे नए कर्मचारी तथा संस्था दोनों को लाभ दिया जा सके।
  • इसी प्रकार वे संस्थाएं जिनकी कर्मचारी क्षमता 50 से अधिक है तो उनको न्यूनतम 5 नए कर्मचारियों को रोजगार प्रदान करके उनको ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकृत करना अनिवार्य है।

Aatmnirbhar Bharat Rozgar Yojana के जरूरी दस्तावेज

  • कर्मचारी का ईपीएफओ के अंतर्गत पंजीकरण
  • आधार कार्ड
  • कर्मचारी वेतन RS. 15000 प्रति माह तक का प्रमाण

Employers आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे?

आपके द्वारा ऊपर दिए गए पात्रता मानदंडों को पूरा किये जाने की स्थिति में आप दिए गए चरणों के द्वारा ऑनलाइन मोड में आवेदन कर सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।

  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “सर्विसेस” के सेक्शन से “Employers” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।

  • यदि आप श्रम सुविधा पोर्टल पर पंजीकृत है तो आपको यूजर आईडी, पासवर्ड तथा कैप्चा कोड दर्ज करके लॉगइन कर देना है।
  • यदि आप पंजीकृत नहीं है तो आपको साइन अप के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा।

  • अब आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- अपना नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर और वेरीफिकेशन कोड दर्ज करके साइनअप के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया सफलतापूर्वक समाप्त हो जाएगी।

आत्मनिर्भर भारत योजना ऑनलाइन फॉर्म Employee के लिए

  • सबसे पहले आपको ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जायेगा।
  • वेबसाइट के होम पेज पर आपको “सर्विसेस” के सेक्शन से “Employess” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।

  • इस पेज पर आपको “रजिस्टर हेयर” के विकल्प पर क्लिक कर देना है। इसके बाद आपके सामने पंजीकरण फॉर्म खुल जायेगा।
  • अब आपको फॉर्म में पूछी गयी जानकारी का विवरण जैसे- अपना नाम, ईमेल, मोबाइल नंबर आदि दर्ज कर देना है।
  • सभी आवश्यक जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया सफलतापूर्वक समाप्त हो जाएगी।

पी ऍम आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना 31 मार्च 2022 तक कार्यरत रहेगी। 

हम उम्मीद करते हैं की आपको आत्मनिर्भर भारत लोन योजना से सम्बंधित जानकारी जरूर लाभदायक लगी होंगी। इस आर्टिकल में हमने आपके द्वारा पूछे जाने वाले सभी सवालो के जवाब देने की कोशिश की है।

यदि अभी भी आपके पास इस योजना से सम्बंधित सवाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं।

Source link