AUS vs SA: हेड टू हेड आंकड़ों में ऑस्ट्रेलिया पर दक्षिण अफ्रीका हावी, जानें आज किसका पलड़ा भारी

1 min read

[ad_1]

AUS vs SA Head to Head: वनडे क्रिकेट में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टीमें हमेशा से एक-दूसरे को कड़ी टक्कर देती रही हैं. दोनों टीमों के बीच अब तक कुल 108 वनडे मुकाबले खेले गए हैं. इनमें 54 मैच दक्षिण अफ्रीका ने जीते हैं और 50 मैचों में ऑस्ट्रेलिया विजय रही है. यानी प्रोटियाज का पलड़ा कंगारूओं पर थोड़ा भारी रहा है. हालांकि वर्ल्ड कप मुकाबलों में ऑस्ट्रेलिया हावी रही है. दोनों टीमों के बीच वर्ल्ड कप में 6 बार टक्कर हुई है. इनमें ऑस्ट्रेलिया ने तीन और दक्षिण अफ्रीका ने दो मुकाबले जीते हैं. दोनों के बीच एक मुकाबला टाई भी रहा है. ऐसे में आज के मैच में किसका पलड़ा भारी रहने वाला है, आइये जानते हैं…

ICC वनडे रैंकिंग्स में ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की स्थिति में ज्यादा अंतर नहीं है. ऑस्ट्रेलिया तीसरे पायदान पर है तो दक्षिण अफ्रीका चौथे क्रम पर मौजूद है. यहां ऑस्ट्रेलिया की टीम दक्षिण अफ्रीका से थोड़ी आगे जरूर है लेकिन पिछले एक महीने के आंकड़े देखें तो स्थिति कुछ बदली हुई नजर आती है. 

दक्षिण अफ्रीका ने ऑस्ट्रेलिया को वनडे सीरीज में दी थी मात
वर्ल्ड कप 2023 के ठीक पहले ही ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज खेली गई थी. यह सीरीज दक्षिण अफ्रीका ने 3-2 से जीती थी. इसके बाद इस वर्ल्ड कप में भी दक्षिण अफ्रीका ने लाजवाब शुरुआत की है. दक्षिण अफ्रीका ने अपने पहले वर्ल्ड कप मुकाबले में श्रीलंका को 102 रन से शिकस्त दी थी. दक्षिण अफ्रीका ने इस मुकाबले में वर्ल्ड कप इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर बनाया और तीन प्रोटियाज बल्लेबाजों ने शतक भी जड़े. उधर, ऑस्ट्रेलिया की टीम ने अपने पहले वर्ल्ड कप मुकाबले में टीम इंडिया के आगे पूरी तरह से घुटने टेक दिए थे. महज यही आंकड़े प्रोटियाज का पलड़ा भारी नहीं बता रहे हैं. इसके साथ ही कुछ और फैक्टस भी हैं.

जबरदस्त फॉर्म में है प्रोटियाज बैटिंग लाइन-अप
प्रोटियाज टीम का बैटिंग ऑर्डर शानदार फॉर्म में नजर आ रहा है. पिछले मैच में प्रोटियाज सलामी बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक ने शतक जमाकर अपनी टीम को अच्छी शुरुआत दी थी. उनके जोड़ीदार कप्तान टेम्बा बावुमा पिछले 8 मैचों में 77.5 की औसत से 465 रन बना चुके हैं. तीसरे नंबर के बल्लेबाज रासी वान डेर डूसैं भी पिछले मैच में शतक जमा चुके हैं. एडन मारक्रम ने तो पिछले वनडे में वर्ल्ड कप इतिहास का सबसे तेज शतक जमा डाला था. वह पिछले 9 मैचों में 83.14 की बल्लेबाजी औसत से 582 रन जमा चुके हैं.

इनके बाद हेनरिक क्लासेन और डेविड मिलर तूफानी बल्लेबाजी करने के लिए पहचाने जाते हैं. इन दोनों खिलाड़ियों को भारतीय परिस्थितियों का अच्छा अनुभव है. ये बल्लेबाज IPL में धूम मचा चुके हैं और वर्तमान में भी जबरदस्त फॉर्म में हैं. दक्षिण अफ्रीका का गेंदबाजी आक्रमण भी लाजवाब है. इसमें कगिसो रबाडा, लुंगी एनगिडी और मार्को यान्सिन जैसे तेज गेंदबाज हैं, वहीं स्पिन विभाग में केशव महाराज और तबरेज शम्सी भारतीय परिस्थितियों में कहर मचा सकते हैं.

तेज गेंदबाजी है ऑस्ट्रेलिया की ताकत
ऑस्ट्रेलिया के लिए फिलहाल सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. सितंबर में ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सीरीज गंवाने के बाद भारत में भी तीन मैचों की सीरीज में शिकस्त खाई थी. वर्ल्ड कप 2023 के अपने पहले मैच में तो टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया की बुरी गत कर दी थी. ऑस्ट्रेलिया के लिए मार्नस लाबुशेन और डेविड वॉर्नर लगातार रन बना रहे हैं लेकिन बाकी बल्लेबाज अपनी जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभा पा रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया का तेज गेंदेबाजी आक्रमण ही उसकी ताकत है. स्पिन डिपार्टमेंट में उनके पास एडम जम्पा तुरुप का इक्का साबित हो सकते हैं, हालांकि वर्तमान में वह नियमित प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं.

यह भी पढ़ें…

AUS vs SA: लखनऊ की मिस्ट्री पिच पर ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका की टक्कर, ऐसा रहा है इस विकेट का रिकॉर्ड

[ad_2]

Source link

You May Also Like

More From Author