‘150 ग्राम सोना, BMW कार के लिए छोड़ा साथ’, केरल में खुदकुशी करने वाली डॉक्टर का क्यों टूटा दिल

1 min read


Kerala Doctor Suicide Case: केरल के तिरुवनंतपुरम में एक 26 वर्षीय डॉक्टर शहाना की खुदकुशी दहेज का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने हर किसी को हैरान किया है. मृतक डॉक्टर के भाई जसीम ने बताया है कि परिवार ने जब दहेज मांगना शुरू किया तो वह अपनी बहन से कह रहा था कि ऐसे परिवार में शादी ना करे, लेकिन शहाना को अपने प्रेमी पर भरोसा था. हालांकि उसका विश्वास तब टूट गया जब खुद प्रेमी ने परिवार के साथ मिलकर दहेज के लिए शादी तोड़ दी.

शहाना तिरुवनंतपुरम के सरकारी मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग से पोस्‍ट ग्रेजुएशन कर रही थी. यहां साथ पढ़ने वाले डॉ. ईए रूवैस से पहले उसकी दोस्ती हुई, फिर दोनों मिलने जुलने लगे, प्यार हुआ. जब मोहब्बत परवान चढ़ी तो दोनों ने शादी का फैसला किया था. हालांकि शहाना ने कभी नहीं सोचा होगा कि जिसे वह दिलों जान से टूट कर चाहती है, वह साथ जिंदगी गुजारने के लिए उसके रिश्तों को दौलत से तौलेगा.

150 ग्राम सोना, 15 एकड़ जमीन और BMW कार मांगी
डॉ. शहाना अपनी मां और दो भाई-बहनों के साथ रहती थीं. उनके पिता, जो खाड़ी देश में काम करते थे, उनकी दो साल पहले मृत्यु हो गई. शहाना के भाई जसीम ने आरोप लगाया है कि प्रेमी डॉ. रुवैस के परिवार ने दहेज में 150 ग्राम सोना, 15 एकड़ जमीन और एक बीएमडब्ल्यू कार की मांग की थी. जब डॉ. शहाना के परिवार ने कहा कि वे मांग पूरी नहीं कर सकते, तो उसके प्रेमी के परिवार ने शादी रद्द कर दी. जसीम कहते हैं, “उसे (रुवैस) को शहाना के साथ खड़ा होना चाहिए था लेकिन उसने भी परिवार के साथ मिलकर शादी तोड़ दी. इससे बहन पूरी तरह से टूट गई थी और उसने आत्महत्या कर ली.”

सुसाइड नोट में लिखा- सबको केवल पैसा चाहिए
पुलिस ने इस मामले में प्रेमी और उसके परिवार के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने की धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है. 5 दिसंबर को तिरुवनंतपुरम के अपने फ्लैट में डॉक्टर शहाना मृत मिली थी. वहां से एक सुसाइड नोट बरामद किया गया था जिसमें लिखा था- “सबको केवल पैसा चाहिए.”

सरकार ने दिया है जांच का आदेश

इस मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि राज्य महिला एवं बाल विकास विभाग को दहेज की मांग के आरोपों पर एक रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है. राज्य अल्पसंख्यक आयोग भी इस मामले को देख रहा है. पैनल के अध्यक्ष एए रशीद ने जिला कलेक्टर, शहर पुलिस आयुक्त और चिकित्सा शिक्षा निदेशक को 14 दिसंबर को आयोग के सामने पेश होने और एक रिपोर्ट सौंपने को कहा है.

महिला आयोग ने की कड़ी कार्रवाई की मांग 

राज्य की महिला आयोग की अध्यक्ष पी सतीदेवी पास के वेंजारामूडु में शहाना के घर गईं और उसकी मां को सांत्वना दीं.   सतीदेवी ने युवा डॉक्टर की कथित आत्महत्या पर दुख और चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि अगर दहेज के कारण हुई मानसिक पीड़ा ने उसे यह कदम उठाने के लिए मजबूर किया है तो कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

य भी पढ़ें :Kerala News : ’10 लाख दो नहीं तो बच्ची को जान से मार दूंगा’, फिरौती के लिए किया कॉल किया तो लोगों ने पहचान ली आवाज



Source link

You May Also Like

More From Author